Connect with us

कोरोना

ब्रिटेन के क्वारंटीन नियमों पर भड़के शशि थरूर, ब्रिटिश सरकार की नीति को बताया भेदभावपूर्ण

शशि थरूर ने कहा कि ब्रिटेन द्वारा लागू किए गए दोहरे मानकों को समझना असंभव है

Published

on

Shashi Tharoor
Photo of Shashi Tharoor[Instagram]

ब्रिटेन द्वारा भारतीयों के लिए क्वारंटीन नियमों में किए गए बदलावों और भारतीय वैक्सीन को मान्यता नहीं देने के कारण कांग्रेस के लोकसभा सांसद शशि थरूर ने गुस्सा जाहिर करते हुए ब्रिटेन की अपनी आगामी यात्रा रद्द कर दी है। उन्होंने ब्रिटेन की सरकार के इस फैसले को अपमानजनक करार देते हुए ब्रिटेन की नीति को भेदभावपू्र्ण बताया है।

 

शशि थरूर ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘पूरी तरह से वैक्सीन लगाए गए भारतीयों को क्वारंटीन के लिए कहना अपमानजनक है। इस कारण मैंने अपनी पुस्तक The Battle Of Belonging (The Struggle For Indias Soul के रूप में वहां प्रकाशित) के UK संस्करण के लिए कैंम्ब्रिज विश्वविद्यालय में होने वाली डिबेट और लांच इवेंट में शामिल नहीं होने का निर्णय किया है।

एक लीडिंग न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार शशि थरूर ने इस मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि ब्रिटेन द्वारा लागू किए गए दोहरे मानकों को समझना असंभव है। मेरे पास व्यक्तिगत रूप से किसी देश में जाने और 10 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहने का समय नहीं है। इसलिए मैंने अपनी यात्रा रद कर दी है। कांग्रेस नेता जयराम नरेश ने भी ब्रिटेन की सरकार के इस फैसले की आलोचना की है। उन्होंने इस बेतुका निर्णय बताया है।

 

जयराम रमेश ने कहा कि कोविशिल्ड को मूल रूप से ब्रिटेन में ही तैयार किया गया था। सीरम इंस्टीट्यूट ने इसका उत्पादन किया और खुद ब्रिटेन में इसकी आपूर्ति की। इसके बावजूद इसे लगवाने वाले भारतीयों के साथ ऐसा व्यवहार उचित नहीं। बता दें कि ब्रिटेन की सरकार ने कहा है कि अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, भारत, तुर्की, थाईलैंड, रूस और जार्डन में वैक्सीनेशन कराने वाले किसी भी व्यक्ति को अन-वैक्सीनेटेड माना जाएगा और ऐसे यात्रियों को आरटीपीसीआर टेस्ट और 10 दिनों तक क्वारंटीन में रहना होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *