Connect with us

अंतराष्ट्रीय संबंध

पूर्वी लद्दाख की विपरीत दिशा में अभ्यास करते हुए नजर आए चीनी फाइटर जेट, भारतीय फौज भी अलर्ट

भारतीय फौज भी चीनी लड़ाकू विमानों के अभ्यास पर करीब से नजर बनाए हुए है

Published

on

Representative Image [Instagram]
Representative Image [Instagram]

भारत और चीन के बीच पिछले एक वर्ष से लद्दाख सीमा पर तनातनी जारी है। सरहद पर चीन अपनी नापाक हरकतें करने से बाज नहीं आ रहा है। एक लीडिंग डेली की रिपोर्ट के अनुसार पूर्वी लद्दाख के विपरीत दिशा में कुछ चीनी फाइटर जेट अभ्यास करते हुए दिखाई दिए हैं। जिनकी संख्या करीब दो दर्जन होगी। भारतीय फौज भी चीनी लड़ाकू विमानों के अभ्यास पर करीब से नजर बनाए हुए है।

रिपोर्ट के मुताबिक चीनी वायु सेना का यह बड़ा अभ्यास पूर्वी लद्दाख के विपरीत मौजूद बीजिंग के एयरबेस से किया गया। चीन के अभ्यास करने वाले लड़ाकू विमानों में लगभग 21-22 फाइटर जेट शामिल रहे। इसमें चीन का J-17 भी शामिल है। जो कि सुखोई-27 फाइटर जेट की चाइनीज कॉपी है। इसके अलावा कुछ J-16 फाइटर जेट भी अभ्यास में उड़ान भरते हुए नजर आए।

Representative Image [Instagram]

Representative Image [Instagram]

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि यह सभी चीनी लड़ाकू विमान अभ्यास के दौरान अपने ही क्षेत्र के अंदर रहे। इन चीनी लड़ाकू विमानों की गतिविधियां इसके होतन, काशगर और गर गुनसार एयरफील्ड एयरबेस से की गई। इन्हे हाल ही में अपग्रेड किया गया ताकि सभी प्रकार के लड़ाकू विमानों को यहां से सपोर्ट मिल सके। रक्षा सूत्रों के मुताबिक भारत भी इसपर नजर रख रहा है।

 

बताते चले कि चीन के साथ सरहद पर विवाद शुरू होने के बाद भारतीय वायु सेना भी नियमित रूप से लद्दाख की सीमा पर राफेल फाइटर जेट का चक्कर लगवाकर नजर बनाए रखती है। सूत्रों ने बताया है कि चीन ने पैंगोंग झील क्षेत्र से अपनी सेना वापस कर ली है लेकिन अपनी वायु रक्षा प्रणालियों को नहीं हटाया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *