Connect with us

एशिया

ट्रंप के प्रयासों पर फिरा पानी, उ. कोरिया के नेता किम जोंग ने अमेरिका को बताया अपना सबसे बड़ा दुश्‍मन

Published

on

Donald Trump
Photo of Donald Trump and Kim Jong-un[Instagram]

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप द्वारा 20 जनवरी को शांतिपूर्ण ढंग से सत्ता हस्तांतरण की बात कहे जाने के बाद अमेरिका की आंतरिक राजनीती में शांति की उम्मीद लगाई जा रही है। लेकिन इस बीच अमेरिका के सामने अंतराष्ट्रीय स्तर पर चुनौती खड़ी होती हुई नजर आ रही है। यह चुनौती उत्‍तर कोरिया की ओर से सामने आई है। उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिका को अपना सबसे बड़ा दुश्‍मन बताया है। साथ ही किम ने एडवांस परमाणु हथियारों के डेवलपमेंट के प्रयास तेज करने की बात कही है।

 

एक लीडिंग डेली की ताजा रिपोर्ट के अनुसार किम ने अपने बयान में कहा कि उत्‍तर कोरिया इन हथियारों का गलत इस्तेमाल नहीं करेगा। लेकिन उनका देश अपने परमाणु जखीरे को और बढ़ाने की दिशा में काम कर रहा है। जिसके अनुसार उत्‍तर कोरिया अलग-अलग तरह के आधुनिक हथियारों के टेस्ट और प्रोडक्शन की तैयारी में लगा है। इतना ही नहीं किम ने हाइपरसोनिक हथियार, एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप पर हमला करने वाली अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलें और जासूसी ड्रोन और सैटेलाइट्स बनाने का समर्थन किया है।

Donald Trump

Photo of Donald Trump and Kim Jong-un[Instagram]


किम जोंग उन ने आगे बताया कि उत्‍तर कोरिया की एक परमाणु पनडुब्‍बी पर काम पूरा होने के करीब है। हालांकि किग जोंग परमाणु हथियारों के निर्माण में हमेशा से दिलचस्पी दिखाते रहे हैं। इससे पहले भी उनके परमाणु टेस्ट के चलते दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने कई बार चिंता जाहिर की थी। ट्रंप ने उत्‍तर कोरिया के साथ संबंधों को सामान्‍य करने की काफी कोशिश की है। जिसके चलते किग जोंग और ट्रंप के बीच कई शिखर वार्ता हुई थी। जिसके बाद उत्‍तर कोरिया की ओर से सकरात्मक रवैया देखने को मिला था।

ट्रंप और किम के बीच पहली बातचीत साल 2018 में सिंगापुर में आयोजित हुई थी। इस वार्ता को लगभग कामयाब भी माना गया था। जिसके बाद दोनों नेताओं ने साल 2019 के फरवरी में वियतनाम की राजधानी हनोई में बातचीत की थी। तब ट्रंप ने कहा था कि उत्‍तर कोरिया के साथ शांतिपूर्ण समझौते की संभावना है। लेकिन अब किम के बयान के बाद ट्रंप की सारी कोशिशों पर पानी फिरता हुआ नजर आ रहा है।

बता दें कि किग जोंग का यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका में सत्ता परिवर्तन होने जा रहा है। ऐसे में अमेरिका के नए शासक जो बाइडन के लिए फिर से उत्‍तर कोरिया और अमेरिका के बीच स्थिति सामान्य करने की चुनौती होगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *