Connect with us

खेल

Tokyo Olympics: भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने सेमीफाइनल में ली एंट्री, कहा- ‘फाइनल के बाद कहूंगी धन्यवाद’

लवलीना बोरगोहेन ने इतिहास रचते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है

Published

on

Lovlina Borgohain
Picture shared by @Ra_THORe[Twitter]

भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने ‘टोक्यो ओलंपिक’ में भारत के लिए एक और पदक पक्का कर लिया है। लवलीना ने चीनी ताइपे की पूर्व विश्व चैंपियन निएन चिन चेन को हराकर इतिहास रचते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। अब सेमीफाइनल में उनका सामना तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली से होगा। लवलीना को उनकी इस सफलता के लिए सोशल मीडिया पर लगातार बधाइयां मिल रही है।

 

लवलीना बोरगोहेन ने अपनी इस जीत पर कहा कि उन्हें पता था कि पूरा देश उनके लिए दुआ कर रहा है। उन्हें बस अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देना था। भारतीय महिला बॉक्सर ने बताया कि वह लीजेंड मुक्केबाज मुहम्मद अली के नक्शे कदम पर चलती हैं और उन्हीं के फुटवर्क और लंबे पंच का अनुसरण करती हैं। उन्होंने आगे यह भी कहा कि वह भारतीय महिला बॉक्सर मैरीकॉम से प्रेरणा लेती हैं।

‘टोक्यो ओलंपिक’ में अपने लक्ष्य पर बात करते हुए लवलीना ने कहा कि ‘यहां केवल एक ही मेडल है और वह है गोल्ड मेडल और मेरा लक्ष्य भी यही है। मैं फिलहाल सेमीफाइनल की तैयारी कर रही हूं। मैं अभी आपको धन्यवाद नहीं कह सकती। फाइनल के बाद मैं यह आप सबसे कहूंगी’। लवलीना ने आगे कहा कि ‘मैं खुद को साबित करना चाहती थी और मुझे इसे खुद को साबित करने की दरकार थी’।

 

लवलीना की सफलता पर भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि वे इस पल का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। यह सिर्फ मुक्केबाजी के लिए ही नहीं बल्कि असम और पूरे भारत के लिये गर्व का क्षण है। लवलीना द्वारा किया गया यह बेहद साहसिक प्रयास है। अध्यक्ष अजय सिंह ने लवलीना के जीवन की परेशानियों के बारे में बताते हुए कहा कि लवलीना जन्म से ही फाइटर है। और जिस तरह से उन्होंने खुद को सिद्ध किया है। उससे हम सभी बेहद गर्वित महसूस कर रहे हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *