Connect with us

पर्यावरण

Cyclone Yaas: चक्रवाती तूफान ने दिखाया रौद्र रूप, बंगाल और ओडिशा के इन क्षेत्रों में मचाई भारी तबाही

भारी बारिश की आशंका को देखते हुए मौसम विभाग ने बंगाल व ओडिशा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है

Published

on

Picture shared by ANI
Picture shared by ANI [Twitter]

चक्रवाती तूफान ‘यास’ बंगाल और ओडिशा में कहर बरपा रहा है। अति गंभीर चक्रवात में तब्दील हो चुका ‘यास’ ओडिशा के तट से टकरा गया है। भारी बारिश की आशंका को देखते हुए मौसम विभाग ने बंगाल व ओडिशा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इन राज्यों के कई जगहों पर तेज हवाएं और भारी बरसात हो रही है।

‘यास’ की भयंकरता को देखते हुए बंगाल और ओडिशा में 12 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है। मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि चक्रवाती तूफान ‘यास’ आज सुबह 10:30 से 11:30 बजे के बीच बालासोर से लगभग 20 किमी दक्षिण में उत्तर ओडिशा तट से पार हुआ। हवा की रफ्तार इस दौरान 130-140 किमी प्रति घंटे से लेकर 155 किमी प्रति घंटे रही। मौसम विभाग के मुताबिक सुबह 9 बजे से लैंडफॉल की प्रक्रिया जारी है।

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने बताया है कि बालासोर के नीलागिरी क्षेत्र में बारिश का सिलसिला जारी है। कम स्तर पर बाढ़ आने की आ सकती है लेकिन इससे नुकसान की कम संभावना है। उन्होंने आगे कहा कि हम मयूरभंज में हवा की रफ्तार और नुकसान पर कड़ी नजर रख रहे हैं। हमने बड़े पैमाने पर पेड़ों को उखड़ते देखा है। सड़कों की लगातार सफाई की जा रही है।

 

पश्चिम बंगाल में चक्रवात ‘यास’ ने काफी तहलका मचाया है। तूफान के कारण नदियों में जलस्तर बढ़ने से बंगाल के तटीय इलाकों पूर्व मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना के कई क्षेत्रों में को पानी भर गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक जलस्तर बढ़ने के कारण दोनों तटीय जिलों में कई स्थानों पर तटबंध टूट गए हैं। जिसके चलते कई गांव और छोटे कस्बे जलमग्न हो गए। इतना ही नहीं समुद्र की लहरें नारियल के पेड़ों के शिखरों को छूतीं हुई नजर आईं और बाढ़ के पानी में बहती कारें भी दिखाई दीं। अधिकारियों ने बताया है कि विद्याधारी, हुगली और रूपनारायण समेत कई नदियों का जलस्तर बढ़ गया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *