Connect with us

कोरोना

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत ने स्‍थापित किया मील का पत्‍थर, वैक्सीन की 100 करोड़ डोज लगाकर रचा इतिहास, WHO ने की प्रशंसा

यूनिसेफ इंडिया ने भी टीकाकरण में एक बड़े लक्ष्य को हासिल करने पर भारत सरकार को बधाई दी है

Published

on

Photo from Unplash
Photo from Unplash

भारत ने कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान में एक बेहद अहम उपलब्धि हासिल कर ली है। देश ने आज 100 करोड़ से अधिक लोगों के वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार कर लिया है। टीकाकरण अभियान में 100 करोड़ का आंकड़ा पार करके देश ने एक मील का पत्‍थर स्‍थापित किया है। इस शानदार उपलब्धि की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी की गई है।

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस उपलब्धि को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘100 करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा पार करना स्वास्थ्यकर्मियों के बिना असम्भव था। आज प्रधानमंत्री मोदी जी ने राम मनोहर लोहिया (RML) हॉस्पिटल में जाकर स्वास्थ्यकर्मियों का धन्यवाद किया। मैं प्रधानमंत्री जी द्वारा किए उत्साहवर्धन के लिए उनका हृदय से धन्यवाद करता हूं’।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस खास अवसर पर राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे थे। उन्होंने इसके बाद उन्‍होंने हरियाणा के झज्‍जर में बने एम्‍स कैंपस में इंफोसिस फाउंडेशन विश्राम सदन की शुरआत भी की। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री भीमनसुख मांडविया भी इस मौके पर मौजूद थे। प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि देश को सौ करोड़ डोज का सुरक्षा कवच मिला है।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में सौ करोड़ डोज का आंकड़ा छूने पर सभी स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को बधाई दी है। उन्होंने आगे कहा कि हम सभी को मिलकर कोरोना महामारी को जल्‍द हराना होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर पर हर जिले में मेडिकल कालेज बनाने पर भी जोर दिया है। उन्‍होंने कहा कि कैंसर की करीब 400 दवाओं के दाम उनकी सरकार ने कम किए हैं।

भारत में 100 करोड़ टीकाकरण पूरा होने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस ए घेब्रेयसस ने भी भारत की प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और देश के वैज्ञानिकों, स्वास्थ्यकर्मियों को बधाई दी है। यूनिसेफ इंडिया ने भी टीकाकरण में एक बड़े लक्ष्य को हासिल करने पर भारत सरकार को बधाई दी है । बताते चले कि भारत में इस साल 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। शुरुआत में कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन टीकाकरण के लिए उपलब्ध थी। लेकिन अब तक भारत ने कोरोना वायरस की छह वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी प्रदान की है। जिसमें रूस में विकसित वैक्सीन स्पुतनिक वी शामिल है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *