Connect with us

पॉलिटिक्स

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों द्वारा 100 रुपये प्रति किलो दूध बेचने के फैसले पर दिया बयान, कही यह बात

Published

on

Representative Image [Instagram]
Representative Image [Instagram]

दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ जारी आंदोलन के बीच खाप पंचायतों द्वारा 100 रुपये लीटर दूध बेचने के फैसले पर संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आधिकारिक बयान दिया गया है। इस संगठन ने अपने बयान में स्पष्ट किया कि 100 रुपये प्रति किलो दूध बेचने के निर्णय से संयुक्त किसान मोर्चा का कोई संबंध नहीं है।

एक लीडिंग डेली की रिपोर्ट के अनुसार संयुक्त किसान मोर्चा ने अपने बयान में कहा कि उनके नाम पर अफवाहे वायरल की जा रही हैं। जिन्हे किसानों को नजरअंदाज करना चाहिए। 100 रुपये प्रति किलो पर दूध बेचने की बात पर इस संगठन ने कहा कि उनकी ओर से ऐसा कोई एलान नहीं किया गया है। इसलिए किसान ऐसे संदेशों को नजरअंदाज करें।

Representative Image [Instagram]

Representative Image [Instagram]

संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि उन्होंने किसानों द्वारा 1 से 5 मार्च के बीच दूध की बिक्री का बहिष्कार करने और फिर 6 तारीख से दूध को 100 रुपये प्रति किलो पर बेचने का कोई आह्वान नहीं किया है। संयुक्त किसान मोर्चा के नाम से सोशल मीडिया पर गलत तरीके से संदेश वायरल हो रहा है।

 

बताते चले कि हाल ही में हरियाणा में हुई खाप पंचायतों और किसानों ने 100 रुपये प्रति किलो में दूध बेचने का ऐलान किया था। लेकिन साथ में यह ऐलान हुआ था कि आम जनता लोगों को दूध पुराने दाम पर मिलेगा। लेकिन सहकारी संस्थाओं को 100 रुपये प्रति किलो का भुगतान करना होंगे। हालांकि अब यह देखना होगा कि संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा सफाई पेश करने के बाद किसान आगे क्या कदम उठाते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *