Connect with us

दुनिया

भारत और ब्रिटेन की नौसेना ने बंगाल की खाड़ी में किया संयुक्त युद्धाभ्यास, दिखाई ताकत

इस युद्धाभ्यास का नेतृत्व रॉयल नेवी का HMS क्वीन एलिजाबेथ कर रहा है

Published

on

Picture shared by ANI
Picture shared by ANI [Twitter]

भारतीय नौसेना बंगाल की खाड़ी में ब्रिटेन की रॉयल नेवी के साथ साझा सैन्य अभ्यास कर रही है। इसे पैसेज एक्सरसाइज (PASSEX) नाम दिया गया है। अभ्यास का नेतृत्व रॉयल नेवी का HMS क्वीन एलिजाबेथ कर रहा है। ब्रिटेन की सरकार की ओर से जानकारी दी गई है कि यह युद्धाभ्यास तीन दिनों तक चलेगा। युद्धाभ्यास में HMS क्वीन एलिजाबेथ के नेतृत्व में ब्रिटेन का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप हिस्सा ले रही है।

 

भारतीय नौसेना और ब्रिटेन की रॉयल नेवी का यह द्विपक्षीय समुद्री सैन्य अभ्यास दोनों नौसेनाओं की समुद्री क्षेत्र में एक साथ काम करने की क्षमता को बेहतर बनाने के लिए डिजाइन किया गया है। एक लीडिंग डेली की रिपोर्ट के अनुसार इस संयुक्त युद्धाभ्यास में 4,000 नौसैनिक हिस्सा ले रहे हैं। साथ ही 10 जहाज, दो पनडुब्बी और लगभग 20 विमान भी शामिल है।

Picture shared by ANI

Picture shared by ANI [Twitter]

भारतीय नौसेना के अनुसार HMS क्वीन एलिजाबेथ युद्धपोत में आईएनएस सतपुड़ा, रणवीर, ज्योति, कवरत्ती, कुलिश शामिल हुए। इसके अलावा एक पनडुब्बी ने भी सक्रिय रूप से इस युद्धाभ्यास में भाग लिया। लाइटनिंग लड़ाकू विमान F-35बी ने भी एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ के डेक से उड़ान भरकर अपनी ताकत दिखाई। साथ ही भारत की ओर से पनडुब्बी रोधी युद्ध में सक्षम लंबी दूरी के समुद्री टोही विमान पी8I ने भी भाग लिया।

 

इस युद्धाभ्यास को लेकर ब्रिटिश सरकार ने कहा कि इस अभ्यास से दोनों देशों की नौसेनाओं को शरद ऋतु में अगले अभ्यास से पहले अपनी क्रियाशीलता और सहयोग को आगे बढ़ाने का मौका मिलेगा जब यह एयरक्राफ्ट कैरियर हिंद महासागर में वापस लौटेगा। ब्रिटेन की नौसेना रॉयल नेवी के एडमिरल सर टोनी रडाकी ने कहा कि दोनों देशों की नौसेना मिलकर दो महासागरों में संयुक्त अभ्यास करेंगी। जिसकी शुरुआत हिंद महासागर में होगी और इसके बाद दोनों नौसेनाएं अटलांटिक महासागर में भी एक द्विपक्षीय अभ्यास करेंगी। उन्होंने बताया कि भारतीय नौसेना का एक जहाज अगस्त में ब्रिटेन के तट पर भी एक अभ्यास में हिस्सा लेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *