Connect with us

भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन ऐप का किया शुभारंभ, जानें क्या है इस मिशन का उद्देश्य

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के पांच राज्यों के जल जीवन मिशन के लाभार्थियों के साथ संवाद किया

Published

on

Picture shared by @BJP4India
Picture shared by @BJP4India [Twitter]

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जल जीवन मिशन ऐप शुभारंभ किया। इसके साथ ही उन्होंने जल जीवन कोष (राष्ट्रीय जल कोष) को भी लांच किया। प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, गुजरात तमिलनाडु, उत्तराखंड और मणिपुर के जल जीवन मिशन के लाभार्थियों के साथ संवाद किया और पानी समितियों और ग्राम पंचायतों के साथ भी बातचीत की।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जल जीवन मिशन का उद्देश्य सिर्फ लोगों तक पानी पहुंचाने का ही नहीं है। ये विकेंद्रीकरण का भी बहुत बड़ा अभियान है। ये ‘Village Driven- Women Driven Movement’ है। इसका मुख्य आधार, जनआंदोलन और जनभागीदारी है। उन्होंने आगे कहा कि महत्मा गांधी कर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जिक्र करते हुए कहा कि पूज्य बापू और लाल बहादुर शास्त्री जी इन दोनों महान व्यक्तित्वों के दिल में भारत के गांव ही बसे थे।

उन्होंने गए कहा कि गांधी जी कहते थे कि ग्राम स्वराज का वास्तविक अर्थ आत्मबल से परिपूर्ण होना है। इसलिए मेरा निरंतर प्रयास रहा है कि ग्राम स्वराज की ये सोच, सिद्धियों की तरफ आगे बढ़े। प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि ‘मैं तो गुजरात जैसा राज्य से हूं जहां मैंने अधिकतर सूखे की स्थिति देखी है। मैंने ये भी देखा है कि पानी की एक-एक बूंद का कितना महत्व होता है। इसलिए गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए लोगों तक जल पहुंचाना और जल संरक्षण, मेरी प्राथमिकताओं में रहे’।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘जल जीवन मिशन के 2 वर्ष’ ई-पुस्तिका का विमोचन भी किया। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2019 को लाल किले की प्राचीर से जीवन में बदलाव लाने वाले जलजीवन मिशन का ऐलान किया था। इस मिशन का उद्देश्य 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार तक नल के पानी का कनेक्शन पहुंचाना है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *