Connect with us

भारत

पीएम मोदी ने लोगों से किया ‘मेड इन इंडिया’ प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल का आग्रह, टीकाकरण को लेकर भी कही यह बात; जानें संबोधन की प्रमुख बाते

‘वोकल फॉर लोकल’ को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें इसे व्यवहार में लाना होगा

Published

on

Picture shared by @BJP4India
Picture shared by @BJP4India [Twitter]

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र के नाम अपना संबोधन दिया। उन्होंने अपने संबोधन में देश के कोरोना टीकाकरण अभियान में लोगों को 100 करोड़ वैक्सीन की डोज लगाए जाने की उपलब्धि सहित कई अहम मुद्दों पर भी बात की है। प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए आने वाले त्योहारों में मेड इन इंडिया के तहत बनी चीजों का इस्तेमाल करने का आग्रह किया है।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि कवच कितना ही उत्तम हो, कितना ही आधुनिक हो और कवच से सुरक्षा से पूरी गारंटी हो तब भी जब तक युद्ध चल रहा है हथियार नहीं डाले जाते। मेरा आग्रह है कि हमें अपने त्योहारों को पूरी सतर्कता के साथ ही मनाना है। उन्होंने कोरोना टीकाकरण पर बात करते हुए कहा कि हमने वैक्सीनेशन में वीआईपी कल्चर को हावी होने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि देश में ‘सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन’ का अभियान शुरू किया गया। देश का एक ही मंत्र रहा है कि अगर बीमारी भेदभाव नहीं करती, तो वैक्सीन में भी भेदभाव नहीं हो सकता।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि भारत ने अपने नागरिकों को 100 करोड़ वैक्सीन डोज लगाई है और वो भी मुफ्त। 100 करोड़ वैक्सीन डोज का एक असर यह भी होगा कि अब दुनिया भारत को कोरोना से ज्यादा सुरक्षित मानेगी। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान विपक्ष पर भी निशाना साधते हुए कहा कि देश के नागरिकों ने ताली, थाली बजाई और दीए जलाए तब कुछ लोगों ने कहा था कि क्या इससे बीमारी दूर हो जाएगी। लेकिन हम सभी को उसमें देश की एकता नजर आई सामूहिक शक्ति का जागरण दिखा।

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘मेड इन इंडिया’ और ‘वोकल फॉर लोकल’ पर बात करते हुए कहा कि आने वाले त्योहारों का मौसम ‘मेड इन इंडिया’ की उम्मीदों को और ताकत देगा। उन्होंने लोगो से ‘मेड इन इंडिया’ प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करने की अपील करते हुए कहा कि हमें हर छोटी से छोटी चीज, जो ‘मेड इन इंडिया’ हो और जिसे बनाने में किसी भारतीय का पसीना बहा हो उसे खरीदने पर जोर देना चाहिए और यह सबके प्रयासों से ही हो सकेगा।

 

‘वोकल फॉर लोकल’ को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें इसे व्यवहार में लाना होगा। भारत में बनी वस्तुएं खरीदना, भारतीयों द्वारा बनाई गई वस्तुएं खरीदना, वोकल फॉर लोकल होकर इसे व्यवहार में लाना ही होगा। उन्होंने आगे कहा कि एक जमाने में विदेशी सामान का बेहद अधिक चलन था, लेकिन आज के दौर में ‘मेड इन इंडिया’ की ताकत काफी बढ़ी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *