Connect with us

पॉलिटिक्स

NHRC Foundation Day: 28वें स्थापना दिवस पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- ‘मानवाधिकार के नाम पर कुछ लोग कर रहे देश की छवि को खराब’

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) स्थापना दिवस प्रतिवर्ष 12 अक्टूबर को मनाया जाता है

Published

on

Picture shared by ANI
Picture shared by ANI [Twitter]

देश भर में आज राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। यह प्रतिवर्ष 12 अक्टूबर को मनाया जाता है। NHRC के 28वें स्थापना दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा मानवाधिकारों को सर्वोपरि रखा है और यह हम सभी के लिए सौभाग्य की बात है कि आज अमृत महोत्सव के जरिए हम महात्मा गांधी के उन मूल्यों और आदर्शों को जीने का संकल्प ले रहे हैं।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में अपने विरोधियों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि मानवाधिकार के नाम पर कुछ लोग देश की छवि को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि मानवाधिकार का बहुत अधिक हनन तब होता है जब उसे राजनीतिक रंग, राजनीतिक चश्मे से देखा जाता है और राजनीतिक नफा-नुकसान के तराजू से तौला जाता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि लोकतंत्र के लिए भी इस तरह का सेलेक्टिव व्यवहार नुकसानदायक होता है। हाल के वर्षों में मानवाधिकार की व्याख्या कुछ लोग अपने-अपने तरीके से, अपने-अपने फायदे को देखकर करने लगे हैं। एक ही प्रकार की किसी घटना में कुछ लोगों को मानवाधिकार का हनन दिखता है और वैसी ही किसी दूसरी घटना में उन्हीं लोगों को मानवाधिकार का हनन नजर नहीं आता।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि भारत के लिए मानवाधिकारों की प्रेरणा और उसके मूल्यों का बहुत बड़ा स्रोत आजादी के लिए हमारा आंदोलन, हमारा इतिहास है। हमने सदियों तक अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया। एक राष्ट्र, एक समाज के रूप में अन्याय-अत्याचार का प्रतिरोध किया है। उन्होंने आगे कहा कि आज देश ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ के मूल मंत्र पर चल रहा है। ये एक तरह से मानव अधिकार को सुनिश्चित करने की ही मूल भावना है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *