Connect with us

भारत

कोयले के स्टॉक और बिजली उत्पादन को लेकर ऊर्जा मंत्रालय ने दी यह अहम जानकारी, पढ़ें खबर

ऊर्जा मंत्रालय ने बताया है कि आंकड़े बिजली संयंत्रों में उत्पादन में सुधार के संकेत दे रहे हैं

Published

on

Photo from Unplash
Photo from Unplash

देश में कोयले के स्टॉक और बिजली संयंत्रों में उत्पादन की स्थिति को लेकर ऊर्जा मंत्रालय ने अहम जानकारी साझा की है। ऊर्जा मंत्रालय ने बताया है कि देश में अक्टूबर के पहले पखवाड़े में 5,722 करोड़ यूनिट बिजली की खपत हुई है। यह खपत साल 2020 की इसी अवधि में हुई खपत से 3.35 फीसदी अधिक है। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि कोयले की कमी के बीच ये आंकड़े बिजली संयंत्रों में उत्पादन में सुधार के संकेत दे रहे हैं।

 

एक लीडिंग डेली की रिपोर्ट के अनुसार सितंबर महीने में बिजली की खपत 11,435 करोड़ यूनिट हुई है। यह पिछले साल के मुकाबले 1.7 फीसदी अधिक है। इस साल उत्पादन में धीमे सुधार का कारण सितंबर में हुई भारी बारिश बताई गई है। विशेषज्ञों का यह मानना है कि भारत सरकार द्वारा कोयला सप्लाई को बेहतर करने के लिए किए गए प्रयासों के बाद उत्पादन व खपत दोनों में सुधार आएगा।

Photo from Unplash

Photo from Unplash

रिपोर्ट के मुताबिक इस साल अगस्त में 1.52 करोड़ टन कोयला आयात हुआ। यह पिछले साल अगस्त महीने के मुकाबले 2.7 फीसदी कम है। इसकी वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कोयले की बढ़ती कीमतों को माना जा रहा है। साथ घरेलू उत्पादन तेज होना भी एक वजह है।

कोल इंडिया के अनुसार अधिकतर कंपनियां भारतीय कोयले पर निर्भरता बढ़ा रही हैं, जिसके चलते भी घरेलू कोयले की मांग बढ़ी है। बता दें कि हाल ही में ऊर्जा मंत्रालय ने राज्यों से गैर आवंटित बिजली का इस्तेमाल करने को कहा है और साथ ही बिजली को बाहर अधिक ऊंचे दाम पर न बेचने की हिदायत भी दी है। साथ ही मंत्रालय ने सभी राज्यों से अपने उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति के लिए बिना आवंटित बिजली का इस्तेमाल करने को कहा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *