Connect with us

दुनिया

प्रधानमंत्री मोदी ने ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को किया संबोधित, कहा- ‘भारत-रूस की दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरी है’

प्रधानमंत्री मोदी ने ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य क्षेत्र में रूस द्वारा भारत को दी गई सहायता का भी जिक्र किया है

Published

on

Narendra Modi
Photo of Narendra Modi [Instagram]

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए भारत-रूस के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर बात करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच दोस्ती काफी पुरानी है और यह दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मुझे ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए खुशी हो रही है और इस सम्मान के लिए मैं रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को धन्यवाद देता हूं’।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारतीय इतिहास और सभ्यता में ‘संगम’ का एक विशेष अर्थ है। इसका अर्थ नदियों, लोगों और विचारों का संगम या एक साथ आना है। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान रूस द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में भारत को दी गई सहायता का जिक्र करते हुए कहा कि वैक्सीनेशन के क्षेत्र में रूस के सहयोग को हमेशा याद किया जाएगा।

पीएम मोदी ने समारोह को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए रूस के 11 पूर्वी क्षेत्रों के गवर्नरों को भारत आने का न्योता भी दिया। उन्होंने कहा कि ‘मैं रूसी सुदूर पूर्व के विकास के लिए राष्ट्रपति पुतिन के दृष्टिकोण की सराहना करता हूं। इस दृष्टिकोण को साकार करने में भारत रूस का एक विश्वसनीय भागीदार बनेगा।

उन्होंने आगे कहा कि ‘साल 2019 में जब मैं फोरम में हिस्सा लेने के लिए व्लादिवोस्तोक गया था। तब मैंने सुदूर पूर्व नीति को लागू करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता की घोषणा की थी। बता दें कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इस्टर्न इकोनॉमिक फोरम का प्रत्येक वर्ष आयोजन कराते हैं। इस फोरम के माध्यम से एशिया प्रशांत क्षेत्र में राजनीतिक, आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों का विस्तार और आर्थिक विकास का समर्थन करना है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *