Connect with us

भारत

Independence Day 2021: लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने दिया संदेश, बताया कैसी होगी स्वतंत्रता के 100 वर्ष तक की यात्रा; जानें संबोधन की अहम बातें

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि भारत की स्वतंत्रता के इस 75वें वर्ष से लेकर 100वें वर्ष तक देश की यात्रा कैसी होगी

Published

on

Picture shared by @PIB_India
Picture shared by @PIB_India [Twitter]

देश आज अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से मना रहा है। इस खास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर तिरंगा फहराकर देशवासियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से बताया कि भारत की स्वतंत्रता के इस 75वें वर्ष से लेकर 100वें वर्ष तक देश की यात्रा कैसी होगी। उन्होंने अपने 88 मिनट के संबोधन में देश के महापुरुषों को याद करते हुए देश की बेटियों, महिलाओं और युवाओं की प्रगति के बारे में बात की। साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कई अहम ऐलान करते हुए ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ में ‘सबका प्रयास’ शब्द जोड़ते हुए देश को नया मंत्र भी दिया। आई जानते है प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन की अहम बातें-:

युवाओं, महिलाओं और किसानों के लिए 100 लाख करोड़ की योजनाओं का नेशनल मास्टर प्लान

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 100 लाख करोड़ से भी अधिक की योजना लाखों के नौजवानों के लिए रोजगार के लिए नया अवसर लेकर आने वाली है। यह ऐसा मास्टर प्लान होगा, जो हॉलिस्टिक इंफ्रास्ट्र्क्चर की नींव रखेगा। अमृत काल में गति की शक्ति भारत के कायाकल्प का आधार बनेगी। इसका नेशनल मास्टर प्लान हम आपके सामने लाएंगे।

 

अब देश के सभी सैनिक स्कूलों में पढेंगी बेटियां

प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर पर ऐलान किया कि देश के सभी सैनिक स्कूलों को बेटियों के लिए खोल दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘आज मैं ये खुशी देशवासियों से साझा कर रहा हूं। मुझे लाखो बेटियों के संदेश मिलते थे कि वो भी सैनिक स्‍कूल में पढ़ना चाहती हैं। उनके लिये भी सैनिक स्‍कूल के दरवाजे खोले जाएं। दो-ढाई साल पहले मिजोरम के सैनिक स्‍कूल में पहली बार बेटियों को प्रवेश देने का हमने एक छोटा सा प्रयोग प्रारंभ किया था। अब सरकार ने तय किया है कि देश के सभी सैनिक स्‍कूलों को देश की बेटियों के लिये भी खोल दिया जायेगा। देश के सभी सैनिक स्‍कूलों में अब बेटियां भी पढ़ेंगी’।

छोटे किसानों की ताकत बढ़ाने का लक्ष्य

किसानों के लिए नया नारा देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि फसल बीमा योजना में सुधार, एमएसपी को डेढ़ गुना करने का बड़ा महत्‍वपूर्ण निर्णय हो, छोटे किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड से सस्‍ते दर से बैंक से कर्ज मिलने की व्‍यवस्‍था हो, सोलर पावर से जुड़ी योजनाएं खेत तक पहुंचाने की बात हो या किसान उत्पादक संगठन हो। इन सभी प्रयासों से छोटे किसान की ताकत बढ़ाएंगे। छोटा किसान अब हमारे लिए हमारा मंत्र है, हमारा संकल्‍प है। ‘छोटा किसान बने देश की शान’। ये हमारा सपना है। आने वाले वर्षों में हमें देश के छोटे किसानों की सामूहिक शक्ति को और बढ़ाना होगा। नई सुविधाएं देनी होंगी’।

 

ऊर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा भारत

पीएम मोदी ने ऊर्जा क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नेशनल हाइड्रोजन मिशन की घोषणा की है। उन्होंने कहा, ‘ग्रीन हाइड्रोजन के क्षेत्र के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मैं आज इस तिरंगे की साक्षी में ‘National Hydrogen Mission’ की घोषणा कर रहा हूं। अमृत काल में हमे भारत को ग्रीन हाइड्रोजन के प्रोडक्शन और एक्सपोर्ट का ग्लोबल हब बनाना है। ये उर्जा के क्षेत्र में भारत की एक नई प्रगति को आत्मनिर्भर बनाएगा और पूरे विश्व में ‘Clean Energy Transition की नई प्रेरणा भी बनेगा। ग्रीन ग्रोथ से ग्रीन जॉब के नए-नए अवसर हमारे युवाओं के लिए हमारे स्टार्टअप्स के लिए आज दस्तक दे रहे हैं’।

गरीबों के लिए पोषणयुक्त चावल

पीएम मोदी ने ऐलान किया कि भारत सरकार अपनी अलग-अलग योजनाओं के तहत जो चावल गरीबों को उपलब्ध कराती है, उसे फोर्टिफाई करेगी और गरीबों को पोषणयुक्त चावल मुहैया कराएगी। उन्होंने आगे कहा कि राशन की दुकान पर मिलने वाला चावल हो या फिर मिड डे मील में मिलने वाला चावल हो, साल 2024 तक हर योजना के माध्यम से मिलने वाला चावल फोर्टिफाई कर दिया जाएगा।

 

अस्पतालों में होंगे अपने ऑक्सीजन प्लांट

पीएम मोदी ने कहा कि देश में हर गरीब तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधा पहुचाने का अभियान भी तेज गति से चल रहा है। इसके लिए मेडिकल शिक्षा में जरूरी बड़े-बड़े सुधार भी किए गए हैं। Preventive healthcare पर भी उतना ही ध्यान दिया गया है। साथ-साथ देश में मेडिकल सीटों में भी काफी बढ़ोत्तरी की गई है। आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के गांव-गांव तक बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाई जा रही हैं। जन औषधि योजना के माध्यम से गरीब को, मध्यम वर्ग को सस्ती दवाईयां उपलब्ध कराई जा रही हैं। अब तक 75 हजार से ज्यादा Health and Wellness centers बनाएं जा चुके हैं और बहुत जल्द देश के हजारों अस्पतालों के पास अपने ऑक्सीजन प्लांट भी होंगे।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी बात की। उन्होंने जल-संरक्षण अभियान, डिजिटल लेन-देन, Vocal for Local अभियान और प्‍लास्टिक-मुक्‍त भारत पर भी बात की है। उन्होंने कहा कि हमारी कल्‍पना है, हमारा कर्तव्‍य है कि Single Use Plastic का इस्‍तेमाल पूरी तरह हमें रोकना होगा। उन्होंने देश के आगामी 25 वर्षों को लेकर कहा कि यहां से शुरू होकर अगले 25 वर्ष की यात्रा जब हम आजादी की शताब्‍दी मनाएगें नए भारत के इस सृजन का ये अमृत काल है। इस अमृत काल में हमारे संकल्‍पों की सिद्धि, हमें आजादी के सौ वर्ष तक ले जाएगी। गौरवपूर्ण रूप से ले जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *