Connect with us

कोरोना

ग्रीन पास के लिए कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी न देने पर यूरोपीय संघ ने दिया बयान, कही यह बात

यूरोपीय संघ के एक अधिकारी ने कहा अगर सदस्य देश चाहें तो अपने यहां भारतीय नागरिकों को यात्रा की इजाजत दे सकते हैं

Published

on

Serum Institute of India
Photo shared by Serum Institute of India [Twitter]

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोरोना वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ लगवाने वाले लोगों को ग्रीन पास न देने को लेकर यूरोपियन संघ ने बयान दिया है। यूरोपीय संघ के एक अधिकारी ने कहा है कि यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी (EMA) को कोविशील्ड की ओर से आवश्यक मंजूरी के लिए आवेदन नहीं मिला है। अगर आवेदन मिलता है तो इसपर विचार किया जाएगा।

 

अधिकारी ने कहा कि EMA द्वारा खुद से नई दवाओं और वैक्सीन की जांच तब तक नहीं की जाती है, जब तक संबंधित कंपनियों की ओर से आवेदन प्रस्तुत नहीं किया जाता। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना महामारी के कारण फिलहाल भारत सहित कई अन्य गैर-यूरोपीय संघ के देशों पर अनावश्यक यात्रा को लेकर अस्थायी प्रतिबंध लागू हैं।लेकिन अगर सदस्य देश चाहें तो अपने यहां भारतीय नागरिकों को यात्रा की इजाजत दे सकते हैं।

अधिकारी ने यह भी बताया कि डिजिटल कोरोना प्रमाणपत्र के उद्देश्य के लिए यूरोपियन संघ के सदस्य देशों के पास व्यक्तिगत तौर पर कोविशील्ड जैसे उन वैक्सीन को भी अनुमति देने का विकल्प होगा, जिन्हें WHO द्वारा अधिकृत किया गया है। बता दें कि EMA ने फिलहाल फाइजर, बायोएनटेक के कोमिरनैटी, मॉडर्ना, एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड की वैक्सजेरविरीया और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी दी है

बताते चले कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने 28 जून को है कहा कि उन्होंने ‘कोविशील्ड’ की डोज लेने वाले भारतीयों को यूरोपीय संघ की यात्रा में आ रही समस्याओं से जुड़े विषयों को उच्चतम स्तर पर उठाया है और आशा है कि इसका जल्द ही इसका हल निकलेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *