Connect with us

भारत

अभिभावकों को योगी सरकार ने दी बड़ी राहत, शैक्षणिक सत्र 2021-22 में नहीं बढ़ेगी स्कूलों की फीस

योगी सरकार ने अभिभावकों को राहत देते हुए प्रदेश के सभी विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए फीस वृद्धि पर रोक लगा दी है

Published

on

Dr Dinesh Sharma
Picture of Dr Dinesh Sharma [Twitter]

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राज्य में कोरोना महामारी के कारण प्रभावित हुई शिक्षा व्यवस्था को लेकर बड़ा फैसला लिया है। राज्य सरकार ने अभिभावकों और स्टूडेंट्स को राहत देते हुए प्रदेश के सभी बोर्डों के सभी विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए फीस वृद्धि पर रोक लगा दी है। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि सभी परिस्थितियों के मद्देनजर सरकार ने एक ऐसा संतुलित निर्णय किया है जिससे कि आम जन पर अतिरिक्त भार न पड़े।

डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया है कि राज्य में सभी बोर्ड के स्कूल शैक्षणिक सत्र 2021-22 में स्कूल की फीस में बढ़ोतरी नहीं कर सकेंगे। यह आदेश उत्तर प्रदेश में संचालित सभी बोर्डों के सभी स्कूलों पर लागू होगा। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के चलते कई परिवार आर्थिक समस्या का सामना कर रहे हैं। स्कूल भौतिक रूप से बंद हैं, लेकिन अधिकांश जगह पर ऑनलाइन शिक्षण का कार्य जारी है। ऐसे में यह संतुलित निर्णय किया गया है जिससे आम जनता पर अतिरिक्त भार न पड़े और साथ ही विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों को नियमित वेतन देना भी सुनिश्चित हो सके।

Photo from Unplash

Photo from Unplash

उपमुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि अगर किसी अभिभावक को तीन महीने की फीस इकट्ठे जमा करने में किसी प्रकार की समस्या आ रही है तो उनके अनुरोध पर उनसे मासिक शुल्क ही लिया जाए। इसके साथ ही विद्यालय बंद रहने की अवधि में परिवहन शुल्क नहीं लिया जाएगा और जब तक स्कूलों में ऑफलाइन रूप से परीक्षा नहीं हो रही है तब तक एग्जाम फीस भी नहीं ली जाएगी।

डॉ. दिनेश शर्मा ने आगे बताया कि स्कूल एक्टिविटीज जैसे कि विज्ञान प्रयोगशाला, लाइब्रेरी, कम्प्यूटर, वार्षिक फंक्शन जब तक नहीं हो रही हैं तब तक उनका भी शुल्क नहीं ले सकेंगे। उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई भी स्कूल इन निर्देशों का पालन नहीं करता है जिले में गठित शुल्क नियामक समिति के समक्ष अभिभावक इसकी शिकायत दर्ज कर सकता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *