Connect with us

भारत

वाराणसी के स्वास्थ्यकर्मियों के साथ पीएम मोदी ने किया वर्चुअल संवाद, दिया नया मंत्र- ‘जहां बीमार वहीं उपचार’

पीएम ने बनारस के आम-जनमानस की प्रशंसा करते हुए कहा कि काशी ने खुद को समर्पित किया है

Published

on

Picture shared by @BJP4India
Picture shared by @BJP4India [Twitter]

देश में आई कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए भारत सरकार लगातार प्रयासों में जुटी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और जिलों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बातचीत करके स्थिति का जायजा ले रहे हैं और उनका हौसला बढ़ा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने आज वाराणसी के हेल्थ वर्कर्स के साथ संवाद किया। उन्होंने कहा कि फील्ड में काम कर रहे लोगों का अनुभव भी पूरे प्रदेश को मिलना चाहिए।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने वर्चुअल संवाद के दौरान स्वास्थकर्मियों के प्रयासों की काफी सराहना करते हुए कहा कि दूसरी लहर के जो अनुभव वाराणसी और पूर्वांचल के हेल्थ वर्कर्स के रहे हैं वह इस महामारी से निपटने के लिए बेहद फायदेमंद हैं। ये पूरे प्रदेश को मिलने चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मैं सभी जनप्रतिनिधियों को इस अभियान से जुड़ने के लिए संतोष प्रकट करता हूं। मुझे भरोसा है कि हम सभी के प्रयासों के अच्छे परिणाम आएंगे और बाबा विश्वनाथ की कृपा से हम सब इस जंग को जीत जाएंगे।

पीएम ने बनारस के आम-जनमानस की प्रशंसा करते हुए कहा कि काशी ने खुद को समर्पित किया है। लोगों ने खुद आगे आकर अपनी दुकानें बंद की, अपने आर्थिक लाभ की फिक्र नहीं की और सेवा में लग गए। पीएम ने इस लड़ाई के खिलाफ लड़ने के लिए नया मंत्र भी दिया है। उन्होंने कहा कि, ‘अभी संतोष का समय नहीं है। हमें लंबी लडाई लड़नी है। गांव पर जोर देना है, अब हर किसी के लिए नया मंत्र है – ‘जहां बीमार वहीं उपचार’।

 

पीएम मोदी ने तीसरी लहर के प्रति भी सचेत रहने की बात कही है। उन्होंने कहा कि बच्‍चों को भी सुरक्षित रखना है। उसके लिए भी तैयारी करनी है। उत्तर प्रदेश के अधिकारियों ने बताया है कि पूरी व्‍यवस्‍था के लिए यूपी सरकार काम शुरू कर चुकी है। ऐसे में हमें खुद काफी सतर्क रहकर अपने आपको महामारी से लड़ने के काबिल बनाना होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *