Connect with us

भारत

विदेश सचिव ने दी जानकारी- भारत को इतने देशोंं ने की है मदद की पेशकश, मिस्र से खरीदी जाएगी रेमडेसिविर की चार लाख डोज

Published

on

Picture shared by ANI
Picture shared by ANI [Twitter]

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने आज बताया कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के खिलाफ लड़ाई में अबतक किन देशों ने भारत की मदद की है। उन्होंने इसकी जानकारी विस्तार से दी है। विदेश सचिव ने कहा कि हमने सहायता की है। हमें सहयता मिल रही है और लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए हम हरसंभव प्रयास करेंगे। दूसरे देशों से आई सहायता के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि हमें 40 से अधिक देशों की ओर से मदद की पेशकश की गई है।

 

हर्षवर्धन श्रृंगला विवरण देते हुए बताया कि आयरलैंड से 700 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हवाई मार्ग से भारत आ रहे हैं। आगामी शनिवार को फ्रांस से भी मेडिकल उपकरणों की एक खेप आने वाली है। विदेश सचिव के अनुसार भारत की मदद के लिए न केवल विकसित बल्कि पड़ोसी देश बांग्लादेश, भूटान और मॉरिशस, की ओर से भी मदद की पेशकश की गई है।

उन्होंने आगे बताया कि संयुक्त अरब अमीरात से आज रात वेंटिलेटर व फैविपिराविर दवाओं की खेप भी आने वाली है। अमेरिका की ओर से मिलने वाली मदद की जानकारी देते हुए विदेश सचिव ने कहा कि अगले कुछ दिनों में तीन अमरीकी विशेष उड़ानें भारत आने की उम्मीद है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत करके मदद की पेशकश की है।

हर्षवर्धन श्रृंगला ने रेमडेसिविर के उत्पादन को लेकर कहा कि हम एक दिन में रेमडेसिविर की 67,000 डोज तैयार करते हैं। लेकिन इन दिनों इसकी जरुरत एक दिन में 2-3 लाख के करीब है। इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए दवा निर्माताओं ने अपने काम की गति बढ़ा दी है। उन्होंने आगे बताया कि रेमडेसिविर के निर्माण के लिए मिस्र से भी संपर्क किया जा रहा है। हम मिस्र से रेमडेसिविर की 4 लाख डोज खरीदने की दिशा में काम कर रहे हैं। इसके अलावा यूएई, बांग्लादेश, उज्बेकिस्तान से भी रेमडेसिविर खरीदने की कोशिश की जा रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *