Connect with us

मनोरंजन

बॉम्बे हाईकोर्ट ने ठुकराई BMC के खिलाफ सोनू सूद की याचिका, बताई यह वजह

Published

on

Sonu Sood
Photo of Sonu Sood shared by fanpage [Instagram]

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद और बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) बीच जारी तनातनी में अब एक नया मोड़ आ गया है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोनू सूद की अंतरिम याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें सोनू ने BMC के नोटिस को चुनौती देते हुए उसे रोकने की अपील की थी। BMC का यह नोटिस एक्टर के जुहू स्थित रेसिडेंशियल बिल्डिंग में कथित तौर पर अवैध निर्माण को लेकर जारी किया गया था। बॉम्बे हाईकोर्ट के जज पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि कोर्ट इस याचिका को खारिज कर रहा है।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सोनू सूद के वकील अमोघ सिंह ने बॉम्बे हाईकोर्ट से BMC द्वारा जारी नोटिस पर अमल करने के लिए करीब 10 हफ्ते का वक्त मांगा था। अमोघ सिंह ने अपील की थी कि महानगरपालिका को उस इमारत कार्रवाई न करने का निर्देश दिया जाए। लेकिन हाईकोर्ट ने वकील की इस अपील को अस्वीकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि एक्टर के पास अमल करने के लिए पहले भी काफी समय था।

 

बताते चले की BMC ने पहले हाईकोर्ट में दी गई अपनी दलीलों में सोनू सूद को ‘आदतन अपराधी’ तक कह दिया था। BMC का आरोप था कि महानगरपालिका ने एक्टर को लगातार नोटिस जारी किये लेकिन उन्हें नजरअंदाज किया गया और सोनू द्वारा अवैध निर्माण कार्य जारी रहे। जिसके चलते BMC ने सोनू सूद को इस मामले किसी भी तरह की राहत ना दिए जाने की मांग उठाई।

 

जिसके जवाब में सोनू ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि कि उन्होंने महानगरपालिका से इस जमीन के मालिकाना हक को ट्रांसफर करने की इजाजत ली है। सोनू ने कानूनी विवादों से हो रही समस्या के बारे में एक ट्वीट भी किया था।