Connect with us

भारत

IIT Kanpur के स्टूडेंट्स भी बोलेंगे संस्कृत भाषा, ऐसे अर्जित कर रहे हैं वैदिक भाषा का ज्ञान

Published

on

Representative Image [Instagram]
Representative Image [Instagram]

संस्कृत भाषा भारत के मूल में बसती है। भारत के समृद्ध इतिहास को हम तक पहुंचाने में वैदिक संस्कृत का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। संस्कृत के इस महत्त्व को आगे बढ़ाते हुए IIT Kanpur के इंजीनियर भी अब संस्कृत का ज्ञान अर्जित करेंगे। एक लीडिंग डेली के रिपोर्ट के अनुसार IIT Kanpur के छात्रों को देवभाषा सिखाने के लिए IIT Kanpur और संस्कृत भारती के बीच करार भी हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक IIT संस्था और संस्कृत भारती की तरफ से हफ्ते में दो दिन संस्कृत भाषा की ऑनलाइन कक्षाएं ली जा रही हैं। इतना ही नहीं IIT के कई प्रोफेसर डिग्री कॉलेजों और विद्या मंदिरों के शिक्षकों के साथ-साथ एमटेक और पीएचडी छात्र भी संस्कृत भाषा की शिक्षा ऑनलाइन ग्रहण कर रहे हैं और साथ ही अन्य लोगों को भी संस्कृत शिक्षा लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

Representative Image [Instagram]

Representative Image [Instagram]


लीडिंग डेली को संस्कृत भारती के प्रांत मंत्री प्रकाश झा ने बताया है कि IIT स्टूडेंट्स के लिए तीन महीने का सिलेबस तैयार किया गया है। छात्रों को वाट्सएप में वीडियो और ऑडियो के जरिए सिलेबस भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि जिन्हे संस्कृत का एक अक्षर नहीं आता था। वे भी अब संस्कृत सीखने लगे हैं। साथ ही जूम और गूगल मीट पर होने वाली कक्षाओं का शुल्क भी नहीं लिया जाता है।

 

प्रकाश झा ने आगे यह भी बताया कि संस्कृत भारती ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान आनलाइन कक्षाएं शुरू की थीं। जिसका कई राज्यों में विस्तार हो चुका है। प्रकाश ने आगे कहा कि संस्कृत भारती से शिक्षण पाकर IIT का एक स्टूडेंट अमेरिका में नौकरी कर रहा है और अब वह संस्कृत भारती विदेशी लोगों को भी ऑनलाइन संस्कृत का शिक्षण दे रहा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *